संतान प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय

संतान प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय – Santan Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Upay, दोस्तों आज हम आपको संतान प्राप्ति के लाल किताब के टोटके और गर्भवती होने के लिए लाल किताब उपचार बतायेगे। इन्ही को पुत्र प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय भी कह सकते है

Santan Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Upay

लाल किताब के अनुसार बृहस्पति पंचम भाग के स्वामी है और हमारा पंचम भाग ही हमारे संतान प्राप्ति के लिए है| अगर हमारा पंचम भाग अच्छा हो तो हमे संतान प्राप्ति के लिए कभी भी दिक्कत नहीं होती है ना ही संतान से हमे कोई दुःख मिलता है|

संतान प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय
संतान प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय

इसलिए हमे संतान सुख देखने के लिए एवम उन्हें खुश देखने लिए हमारे बृहस्पति के साथ-साथ इसका पंचम भाग भी मज़बूत होना चाहिए| संतान प्राप्ति में पंचम भाग के अलावा भी कई ग्रह अपनी भूमिका निभाते है जैसे सूर्य, शुक्रआदि| आइये जानते है कैसे विभिन्न ग्रह आपके संतान प्राप्ति में मुख्य भूमिका निभाते हैं|

  • अगर आपके भाग्य के पंचम भाग में सूर्य उच्चतम है तो आपके बच्चा काफी भाग्यशाली होगा और उसके आते ही आपके परिवार में खुशहाली आ जाएगी| परंतु स्थिति यदि इसके विपरित हुई अर्थात अगर आपका सूर्य आपके पंचम भाग में मज़बूत नहीं है तो आपको गर्भ धारण करने में दिक्कतों का सामना करना पर सकता है साथ ही अगर संतान प्राप्ति हुई भी तो आपको बच्चे के कारण समस्याओं का सामना करना पर सकता है| कुंडली में सूर्य की स्थिति सही करने के लिए प्रतिदिन ब्रहममुहूर्त के समय सूर्य को अर्घ देते हुए “ॐ आदित्याय नम:” मंत्र का जप १०८ बार करे|
  • आपका शुक्र भी मजबूत होना चाहिए क्यूंकि शुक्र आपको आसन गर्भ धारण करने में सहायता करता है साथ ही इससे आपको बहुत भाग्यशाली बच्चा पैदा होगा| इसके विपरीत, यह एक अच्छा संकेत नहीं है अगर शुक्र शनि के साथ-साथ पांचवें घर में कमजोर स्थिति में हो ये निश्चित रूप से प्रतिकूल परिणाम देते हैं। राहू और शनि के इन पदों का बच्चों से संबंधित मामलों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। चंद्रमा घर में मौजूद हो तो थोड़ी राहत और सकारात्मकता का अनुभव किया जा सकता है।

इसलिए लाल किताब में कहा भी गया है की आपके उपर कोई भी ग्रह कितना भी भारी क्यूँ ना हो अगर आपका सूर्य और बृहस्पति मजबूत है पंचम घर में तो आपको एक अच्छे और संस्कारी संतानकी प्राप्ति होती हैं|

संतान प्राप्ति के लाल किताब के टोटके – Santan Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Totke

संतान प्राप्ति के लाल किताब के टोटके – Santan Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Totke, हमारी या आपकी कुंडली में बारह ग्रह है|यह तो हम जान ही गए हैं कि संतान प्राप्ति के लिए पंचम ग्रह का मजबूत होना बहुत अनिवार्य है|पंचम ग्रह के साथ कुछ अन्य ग्रहों के संयोग से ही संतान प्राप्ति के द्वार खुलते हैं|

जैसे की हम पहले ही बता चुके है पंचम भाग में सूर्य और बृहस्पति बहुत महत्त्व रखता है तभी आपको एक उत्तम संतान की प्राप्ति होगी| तो आइये जानते है कुछ मंत्र के बारे में जिसे पढ़ के आपको सकारात्मक विचार आयेंगे साथ ही आपको गर्भ धारण करने में कम समस्याओं का सामना करना पड़ेगा |

हिन्दू धर्म के अनुसार संतान प्राप्त करने के लिए सुबह उठाकर नहा-धो कर आपसर्वप्रथम सूर्य देव को जल चढ़ाये| यदि यह कम जोड़े से करेंगे तो अतिउत्तम होगा| सूर्य देव को जल चढ़ाने के बाद अपने कुल देवता का पूजा पाठ करेसाथ ही निम्नलिखित किसी भी श्लोक में से किसी एक का 108 बार जाप अवश्य करें|

इन मंत्रों के जाप करते समय इस बात का विशेष ख्याल रखे कि इनका जाप निर्विरोध होनी चाहिए| आपको मंत्र जाप के बीच में न कुछ बोलना हैं और ना ही रुकना हैं|

1. नमो भगवते जगतप्रभु भरकम: नमः।

  1. ओऽम क्लीं गोपालकृष्णाय वासुदेवाय फट् स्वाहा।

  2. ओऽम नमः सर्वशक्ति माता मम् गृहे पुत्रं कुरू कुरू स्वाहा।

  3. ओऽम् हीं श्रीं क्लींक्लीङ्ग गलूङ्ग स्वाहा|

  4. ॐ देवकीसुत मम मनोकामना पूर्ण अस्याम निरकृति: संतानप्राप्ति कुरु स्वाहा|

उपरोक्त लिखे मंत्रो में से आप जिस किसी मंत्र का चयन करे उसपे पूर्ण श्रद्धा रखे| बिना श्रद्धा के आप कुछ नहीं पा सकते है|लाल किताब में भी आपको बोला गया है जब तक आपके मन में विश्वाश और सकारात्मक भाव ना हो तब तक आप कितने भी टोटके क्यूँ ना आजमा ले आप को किसी भी वस्तु की प्राप्ति नहीं होगी, इसलिए अपनी आस्था बनाये रखे और मंत्रो का जाप करे| आपको एक भाग्यशाली संतान की प्राप्ति शीघ्र होगी|

गर्भवती होने के लिए लाल किताब के उपचार – Garbhvati Hone Ke Liye Lal Kitab Ke Upay

गर्भवती होने के लिए लाल किताब के उपचार – Garbhvati Hone Ke Liye Lal Kitab Ke Upay, गर्भवती होने के लिए आपके पंचम ग्रह मज़बूत होने चाहिए साथ ही साथ आपको कुछ उपाय जरुर करने चाहिए जिससे अगर किसी ग्रह के कारण आप गर्भ नहीं धारण कर पा रही हो तो वो दोष दूर हो जाएँ|आइये जानते है वो क्या क्या उपाय है –

  • लाल किताब के अनुसार अगर आप निःसंतान है तो आपको पशुओं की सेवा अवश्य करनी चाहिए विशेषकर दूध देने वाले पशुओं की ये अधिक फलदायी होता है| अगर आप गाय की सेवा पुरे भावना के साथ करती है तो आपको इसका परिणाम शीघ्र प्राप्त होगा|
  • इसके साथ पूजा स्थल जैसे स्थानो पर दान करे, अपने भोजन का एक हिस्सा गाय को खिलाएं, एक स्वस्थ गर्भ धारण करने के लिए एक कुत्ते को भी पाल सकते हैं|
  • उपरोक्त सभी के साथ साथ कुछ मंत्रो का भी उच्चारण करें जिससे की आपका गर्भ सुरक्षित रहे जैसे-

गर्भरक्षाम्बिका मंत्र ।।नमो देव्यै महा देवयै दुर्गायै सत्यम नमः |पुतरा सौख्यम देहिदेहि गर्भगृहं कुरुष्वन् ||

  • मंत्र जाप विधि- इन मन्त्रों का जाप आप रोजाना सुबह शाम का दिया जला कर करें|मंत्र जाप से पहले पंच परमेश्वर को भोग लगाए| इसके बाद अपने कुलदेवता का आवाहन करे| सभी देवताओं के आवाहन और भोग के बाद रुद्राक्ष के माला पर उपयुक्त मंत्र का तीन माला जाप सुबह शाम तब तक करे जब तक आप अपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर लेती हैं|
  • यदि आपके विवाह को बहुत समय हो गया है और आप सभी टोटके आजमा चुके है तो आप मदार की जड़ को शुक्रवार को उखाड़ लें और उसे कमर में बांध ले|ऐसा करने पर स्त्री अवश्य ही गर्भवती हो जाएगी|यह गर्भधारण बहुत ही अचूक उपाय हैं|

पुत्र प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय – Putra Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Upay

पुत्र प्राप्ति के लिए लाल किताब के उपाय – Putra Prapti Ke Liye Lal Kitab Ke Upay, कहा जाता है की बच्चे भगवान् का रूप होते है चाहे बेटा हो या बेटी|परंतु सबकी चाह होती है की दोनों जरुर हो क्यूंकि दोनों बच्चे एक दुसरे के पूरक होते है| तो आइये हम कुछ उपायों के बारे में जानते है जिससे की अगर आपकी बेटी है और आप बेटे की चाह रखती है तो आपको पुत्र की प्राप्ति कैसे हो |

वैसे तो कहा जाता है की कुछग्रहो के दोषों की वजह से जैसे कि‘पितृ दोष’ घर में पुत्र की प्राप्ति नहीं हो पाती है|यदि आप इन सबको खुश रखने के लिए इनका उचित उपाय करे साथ ही आपका पंचम भाग सूर्य और बृहस्पति मज़बूत हो तो आपको एक भाग्यशाली पुत्र की प्राप्ति हो सकती है|

  • लाल किताब के अनुसार अगर आपको एक पुत्र की प्राप्ति चाहिए तो आपको ( पति ) खट्टा 6 महीने पहले ही खाना छोड़ देना चाहिए| आपको दूध से बनी चीज़ों का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए साथ ही आपको वीर्य को बढाने वाली ओषधियों का सेवन भी करना चाहिए|
  • पत्नी को अंगूर, टमाटर,संतरा, तरबूज इत्यादि का सेवन करना चाहिए |इस दौरानपति-पत्नी दोनों को मांसाहारी खाने का त्याग कर देनी चाहिए|
  • लड़का पैदा करने के लिएपुरुषों कोपत्नी के मासिक धर्म के आरंभ होने के 8वी, 10वी, 12वी,14वी रात में शुक्ल पक्ष पर ही संभोग करना चाहिए। ऐसा करने से आपको निश्चित ही पुत्र प्राप्त होगा।
  • इन सब उपायों के साथ ही साथ आपको गोपाल की भक्ति करनी चाहिए| गोपाल जी के पुजा के दौरान निम्न मंत्र का जाप 108 बार करनी चाहिए| मंत्रो का उच्चारण सुबह शाम का दीपक जलाने के पश्चात ही आरंभ करे|

मंत्र- ॐ राधेप्रिय: देवकीनंदन जगतपिता जगदीश्वर, मम पुत्र: कामना पूर्ण करोति जगदीश|

  • अगर आपकी स्त्री को सिर्फ कन्यापैदा ही हुई है तोआप अपनी स्त्री कोशुक्र मुक्ता पहनाये, यदि इस उपाय को आजमाएगे तो एक वर्ष के अंदर ही पुत्र-रत्न की प्राप्ति होगी|

उपयुक्त वर्णित सभी ज्योतिष उपाय सतप्रतिशत फल देने वाली हैं| इन सभी उपायों को आप किसी जानकार ज्योतिष के परामर्श के साथ आजमाए| यदि आप पूरी श्रद्धा और निष्ठा के साथ इनका पालन करेंगे तो आपको शीघ्र ही संतान कि प्राप्ति होगी|

#संतान #प्राप्ति #के #लिए #लाल #किताब #उपाय
#टोटके #गर्भवती #होने #लिए #उपचार #पुत्र

लाल किताब से वशीकरण

[Total: 1    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp WhatsApp us