लाल किताब के अचूक उपाय

लाल किताब के घरेलू उपाय, लाल किताब के उपाय फॉर हस्बैंड, लाल किताब के उपाय फॉर अर्ली मैरिज

लाल किताब की दुनिया मे प्रवेश करने से पहले जरूरी है की हम आपको इसके बारे मे बता दे, की आखिर ये लाल किताब है क्या? दरअसल लाल किताब  ज्योतिष का एक ग्रंथ है या यू कहे की ज्योति विद्या के मौलिक सिद्धांतों पर आधारित किताब है। इसकी खास बात ये है कि जीवन मे आने वाली परेशानियों से बचने के लिए इसमे जो टोटके व उपाय बताए गए है, उसको आम इंसान भी बड़ी आसानी से समझ सकता है।

लाल किताब के अचूक उपाय
लाल किताब के अचूक उपाय

वैसे ये घटना आपके साथ भी कभी-ना-कभी हुई होगी, जब शुबह ऑफिस लेट होने के डर से या फिर किसी भी दूसरे कारण से जब आप हड़बड़ी मे होते है, और जल्द-बाजी मे आप रास्ते मे पड़े किसी नींबू पर पैर रख देते है। अनजाने मे ही वो आपके पैरो तले आकार कुचला जाता है। लेकिन ये गलती होते ही आपकी सांसे थम सी जाते है। आपका पूरा दिन ये सोचते हुए गुज़रता है की अब काही कुछ गड़बड़ तो नहीं होने वाली। दिमाग मे हज़ारों खयाल उड़ने लगते है। पूरा दिन बेकार गुज़रता है, क्यूकी कही-ना-कही आप किसी जादू-टोटके के बारे मे ही सोच रहे होते है। जैसे की बहुत से लोग जादू-टोटके का सहारा लेकर नींबू-मिर्ची की मदद दे अपनी बाला उतारकर सड़क पर खुलेआम फेक देते है और जिसके पैरों तले वो कुचला जाता है, बला उसके ऊपर पड़ जाती है। किसी अनहोनी की चिंता सताने लगती है, पर यकीन करे लाल किताब उनमे से एक है, जो आपको किसी भी प्रकार की समस्या से निजात दिलाने वाले उपाय और टोटके के जानकारी देती है। इसमे विभिन्न प्रकार के गृह-दोष से बचाव के लिए भी काफी टोटके बताए गए है। जिसकी सहायता से आप एक स्वस्थय जीवन बिता सकते है।

तो चलिये हम आपको सबसे पहले लाल किताब मे दिये उन घरेलू उपाय के बारे मे बताते है, जिनहे यकीनन आप उत्सुकता के साथ जानना चाहते है। ध्यान रहे रोजमरा के जीवन मे सुख-शांति के लिए आप इस बात का खास ध्यान रखे कि आपके घर के आस-पास ऐसा कोई भी पेढ-पौधा नहीं होना चाहिए जिसमे प्रेतों के निवास की संभावना होती है जैसी की- पीपल, चमेली, बबूल, शीशम, कीकर आदि। ये माना भी जाता है कि रात के समय किसी खुशबुदार पौधे के पास नहीं जाना चाहिए और ना ही ऊपर बताए गए पेढ़-पौधे के पास। इसके अलावा जीवन मे अग्नि और जल का विशेष महत्व है, तो कभी भी गलती से इन दोनों चीज़ों का अपमान ना करे और ना ही जल और अग्नि को लांघे। लाल किताब को पढ़ने पर आपको ऐसे और भी कई बाते मिलेंगी जिनहे शायद आप ना जानते हो और वो बाते बेहद चौकाने वाली हो सकती है। उन्ही चौकाने वाली बातों के बीच ये किताब यह भी बताती है कि किसी निर्जन, बंजर या जंगल जैसी जगह पर मलमूत्र करने से पहले आपको आस-पास देखना जरूर चाहिए कि कही वहा कोई ऐसा पेढ़ तों नहीं जिसपर प्रेतों का निवास हो या कोई कब्रिस्तान तों नहीं।

इस लाल किताब के उपाय क्यूकी तांत्रिक तरीके के होते है, तो जल्दी असर दिखाते है और इसी कारण बहुत से लोग इसकी ओर अपना रुख करते है। चलिये अब नज़र डालते है जीवन मे कुछ सामस्यों की तरफ, जिनहे लेकर काफी परिवार चिंता मे रहते है। वो समस्या है बेटी या बेटे की शादी को लेकर। तों यही आप भी ऐसी ही किसी चिंता का शिकार है कि बेटी कि शादी मे रुकावट आ रही है तों- पूजा वाले 5 नारियल लेकर उन्हे भगवान शिव की मूर्ती या फोटो के आगे रख दे। इसके बाद “ऊं श्रीं वर प्रदाय श्री नामः” मंत्र का पांच माला जाप करें और पांचों नारियल शिव जी के मंदिर में चढा दें। इसी प्रकार एक और उपाय है, जिसके अंतर्गत कन्या हर सोमवार को सुबह नहाकर “ऊं सोमेश्वराय नमः” मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर दूध मिलाकर जल चढाये। साथ ही मंदिर मे ही बैठकर रूद्राक्ष की माला के साथ इस मंत्र का जाप करे तों विवाह से संबधित समस्या दूर होगी।

विवाह की बात को और विस्तार देते हुए देखा जाये तो बहुत से ऐसे घर है, जहां पति-पत्नी के बीच रिश्ते सही नहीं चल रहे होते है। कोई-न-कोई अनबन या लड़ाई-झगड़ा या फिर पति का अपनी पत्नी से प्रेम व्यवहार कम होने लगता है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा हो रहा है तो लाल किताब इसका उपाए बताते हुए सुझाव देती है की ऐसे स्थिति मे स्त्री को 43 दिनों तक दुर्गा माता की फोटो के सामने बैठ कर दुर्गा स्तुति करते हुए “चँडी स्त्रोत” का पाठ करना चाहिए। ध्यान रहे ये पाठ शुक्ल पक्ष मे करना सही रहता है। पाठ करने के लिए आपको हर दिन के लिए एक नया पान का पत्ता लेना होगा, जो कही से भी कटा न हो। पत्ते पर चन्दन और केसर का पाउडर मिलाकर रख ले और पाठ करने के बाद उसे माथे पर लगा ले । यही प्रक्रिया 43 दिनों तक दोहराए व तिलक लगाने के बाद पति के सामने जाये। पति नहीं हो घर तो उसकी तस्वीर के सामने भी जा सकते है। इन सभी पत्तों को अलग स्थान पर रख दे और 43 दिन बाद पान के पत्तों का जल प्रवाह कर दे।

वैसे अगर लाल किताब मे बताए गए किसी भी उपाए को करने जा रहे है, तो ध्यान रखे की लाल किताब के सभी उपाए आपको दिन के वक़्त करने चाहिए व प्रक्रिया के बीच शुद्ध भोजन ही लेना चाहिए। इसके अलावा शुद्ध मन व पूर्ण विश्वास से करे उपाय से आपको मदद जरूर मिलेगी, जैसा की ये लाल किताब कहती है।

 

[Total: 3    Average: 3.7/5]