राजनीति में सफलता के ज्योतिषीय उपाय

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार हमारे जीवन में होने वाले सभी घटनाओं का सीधा संपर्क हमारी कुंडली से होता है | किसी क्षेत्र विशेष में सफलता के जातक भी हमारे कुंडली में मौजूद होतें है | राजनीतिक सफलता या विफलता का योग भी इसमें शामिल हैं |

राजनेता बनने के लिए जरूरी दशा एवं भाव के बारे में जानकारी होना, ये सुनिश्चित करने में मदद करता है की हमें इस तरफ कदम बढ़ाना चाहिये या नहीं | इस लेख में हम राजनेता बनने के सटीक उपायों एवं टोटकों के बारें में बताएँगे |

राजनीति में सफलता के ज्योतिषीय उपाय
राजनीति में सफलता के ज्योतिषीय उपाय

इसके अलवा राजनीती में सफल होने के लिए लाल किताब में दिए गए नुस्खों का भी वर्णन किया गया है | तो आप भी इन उपायों को जाने और अपने राजनीतिक जीवन को सफल बनाये |

राजनेता बनने के ज्योतिष उपाय

राजनेता बनने के ज्योतिष उपाय, अक्सर ये पाया गया है की , सफल राजनेताओं के कुंडली में राहू का योग , उन्हें अन्य ग्रहों की तुलना  में , सफलता की और ले जाता है | उनके सातवें , दसवें और ग्यारहवें भाव में उपस्थित राहू उन्हें एक सफलतम राजनेता बनता है |

ज्योतिष में सूर्य और चन्द्र का राहू के साथ सम्बन्ध बहुत ही रोचक होता है | जब दसवें भाग में सूर्य उच्च हो तथा छठे, सातवें, दसवें और ग्यारहवें भाव का राहू से सम्बन्ध बन जाये तो , यह जातक राजनीती में सफलता सुनिश्चित करते हैं |

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राजनीतिक सफलता मुख्य रूप से ग्रहों की स्थिति के अनुसार प्राप्त की जा सकती है | अतः राजनीति में आगे बढ़ने के लिए अपने ग्रहों की स्थिति को अनुकूल करना बेहद ही जरूरी है |

मुख्य रूप से दसवें भाव के गृह को सुधार के परिकूल स्थितयों को अनुकूल किया जा सकता है | निम्नलिखित मंत्र का जाप आप को राजनीतिक सफलताओं के ऊँचाई पे ले जा सकता है

देहि सौभाग्यमारोग्यं  देहि में परम सुखं ,

धनं देहि , रूपम देहि यशो देहि द्विषो  जही |

जातक को रोज़ अपने इष्ट देव की पूजा के उपरांत , इस मंत्र को 21 दिनों तक 108 बार जपना आवश्यक है | इसके अलवा 21 शुक्रवार तक मा दुर्गा का व्रत बहुत ही असर काराक होता है |

चुनाव में विजय प्राप्ति टोटके

चुनाव में विजय प्राप्ति टोटके, राजनीति एवं चुनाव की सफलता में राहू एक बड़ी भूमिका निभाता है | राहू का ऐसा प्रभाव उसके विराट रूप के कारण होता है | ऐसा माना जाता है की , एक राजनेता की आभा इतनी विराट होनी चाहिए की वो जनता के दिल और दिमाग में बस जाए |

आभा का ये विराटपन राहू के प्रभाव से पूर्ण रूप से प्रकट होता है | यह विराट छवि जनता के बीच अपनी पहचान बना पाती है और राजनीती में आशा अनुरूप सफलता दिलाती है | इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए , चुनावी विजय के लिए निम्नलिखित टोटकों को अपना जा सकता है –

  • चुनावी सफलता के लिए राहू का तर्पण बहुत ही आवश्यक है | हर गोत्र के लिए तर्पण का मंत्र और तरीका अलग अलग होता है |
  • राहू का तर्पण शनि और केतु के साथ ही किया जाता है |
  • स्वर्ण तथा रत्न दान भी राहू की स्थति को बेहतर बनाता है |
  • राहू काल में कभी भी कोई चुनावी सभा नहीं करनी चाहिए |
  • चुनावी भाषण के समय प्रत्याशी का मुख , अगर मंच दक्षिण दिशा में बना है , तो उत्तर दिशा में होना चाहिए | अगर मंच पश्चिम दिशा में बना है तो प्रत्याशी का मुख पूर्व दिशा में होना चाहिए |
  • चुनावी सभा में मंच को हमेशा पूर्व दिशा में लगाना चाहिए , इससे विजय की राह ज्यादा कशमकश भरी नहीं रहती है |
  • चुनावी सफलता में बगुलामुखी तथा त्रिशक्ति कवच धारण करना बहुत ही असरकारक होता है |

ये सभी सिद्ध राजनीतिक टोटके हैं जो की बहुत ही असरदाई परिणाम देते हैं | पूर्ण दिशा निर्देशों के साथ इन टोटकों को करने से आशानुरुप परिणाम मिलता है |

लाल किताब के जरिए राजनीति में सफलता के उपाय

लाल किताब के जरिए राजनीति में सफलता के उपाय, लाल किताब के टोटके , राजनीतिक सफलता में असरदाई परिणाम देते हैं |

  • लाल किताब के अनुसार , राजनीतिक सफलता के सूर्य देव , मुख्य रूप से रविवार के दिन, करनी चाहिए | इस पूजा को पूर्ण रूप से संपन्न करने के लिए , ताम्बे के बर्तन में लड्डू , गेंहू , गुड , लाल चन्दन तथा लाल कपडा लेके सूर्य देव को अर्पण करनी चहिये | सूर्य सत्ता के लिए मुख्य करक गृह होतें है , और उनको प्रसान करने के लिए ये टोटका बहुत ही असरदाई होता है |
  • हनुमान जी को बल का देवता माना गया है | चुनाव में अपने प्रतिद्वंदियों पर विजय के लिए इनकी पूजा बहुत ही असरकरक होती है | पंचमुखी हनुमान जी की लगातार पूजा करने से राजनीतिक ही नहीं अपितु अन्य क्षेत्रों में भी सफलता मिलती है | मगलवार को हनुमान जी की पूजा तथा व्रत बहुत ही प्रभावकरी होता है |
  • 21 शुक्रवार तक माँ दुर्गा के व्रत के साथ एक लाल कपडे में 42 लोंग, 21 लाल चूड़ियाँ, 5 गुडहल , 7 कपूर , 2 चांदी की बिछिया और सिन्दूर माता के चरणों में अर्पण करनी चाहिए |
  • एक कटोरे में कुमकुम, कपूर, लाख, घी तथा शहद लेके इसका एक लेप बना के माता दुर्गा के चरणों पे लगायें तथा अपने माथे पे अपने तिलक लगायें |
  • मिटटी में पानी तथा घी मिलाके, गोलियां बना ले .इन गोलियों को सुखा के 9 दिन तक पीले सिन्दूर में रखें | 9 वे दिन इसे पानी में प्रवाहित कर दें |

अगर एक जातक के कुंडली में ये सभी भाव मौजूद हो तथा वो नियमित रूप से बताये गए टोटकों का पालन करें तो निश्चित रूप से, वो राजनीती में एक सफल करियर बना सकता है | सफलता के लिए राहू का कुंडली के साही घर में विराजमान होना सबसे जरूरी है

अपनी कुंडली का किसी ज्योतिषाचार्य से अवलोकन करवा के आप भी अपने राजनीतिक जीवन की सम्भावनाओं का पता लगा सकते है | सही ग्रहों और दशा की मौजूदगी में उपरोक्त बताये गए उपायों को करके अपने राजनीतिक जीवन को सफा बनाया जा सकता है |

लाल किताब के वशीकरण टोटके

[Total: 1    Average: 5/5]
Call Now Button
WhatsApp WhatsApp us